Gaothan Map App गौठान मैप एप

गौठान मैपgaothan naksha (gaothan map
app)
क्‍या है।
गौठान मैप’ gaothan map के लाभ एव उपयोग।



style=”display:block”
data-ad-client=”ca-pub-4113676014861188″
data-ad-slot=”2557605685″
data-ad-format=”auto”
data-full-width-responsive=”true”>

  • गौठान मैप
    (
    गौठान मल्टी ऐक्टिविटी एवं आजीविका प्रबंधन) gaothan map app
    मोबाइल एप
    द्वारा गोबर खरीदी
    , गोठान विवरण, चारागाह और
    पैरादान
    , स्व-सहायता समूह की गतिविधियों की जानकारी, अधोसंरचना आदि
    का सम्पूर्ण विवरण प्रापत किया जा जाता है ।
  • राज्य में संचालित
    गोठानों का गोठानवार डेटाबेस होगा
    , जिसमंे गोठानो
    में उपलब्ध संसाधन
    , गतिविधियां, हितग्राहियों
    एवं सेवाओं आदि का विवरण होगा।

gaothan map app uses-

जियो-टैगिंग के माध्यम
से गौठानों की  डिजिटल मैपिंग की जाएगी।
जिससे गौठानों के संसाधनों का सतत लेखा जोखा उपलब्ध होगा. प्रत्येक गोठान में स्व सहायता
समूहों द्वारा संचालित मल्टी एक्टिविटी का डेटाबेस तैयार होगा।
gaothan
map app
फ्रेमवर्क से गौठानों के मुख्य सूचकांकों की सटीक
निगरानी हो सकेगी। इससे गौठानों में उत्पादित सामग्री की उपलब्धता एवं विपणन और
लाभार्थियों का लेखा जोखा उपलब्ध होगा।

गोधन न्‍याय योजना-

जल संरक्षण, पशु संवर्धन,
मृदा स्‍वास्‍थ्‍य एवं पोषण प्रबंधन की कार्यवाही को छत्तीसगढ़
की सांस्‍कृतिक परम्‍परा से जोड़ते हुए तथा आम जन के सहयोग से सफल करने सुराजी गावं
योजना के माध्‍यम से नरवा
, गरूवा, धुरूवा, बाड़ह सरंक्षण एवं संर्वधन का अभियान प्रारंभ किया है। सांस्‍कृतिक
परम्‍परा से परिपूर्ण्‍ इस कार्यक्रम को सरकार ने अपनाते हुए इसको एक अभियान के रूप्‍
में लिया है।

प्रदेश
सरकार द्वारा वर्ष 2020-21 में हरेली के दिन 20 जुलाई 2020 को गोधन न्‍याय योजना का
शुभारंभ किया गया । इसके अंतर्गत सुराजी गांव में स्‍थापित गौठानों के माध्‍यम से गौठान
समितियां द्वारा 2 रूपये प्रति किलो की दर से क्रय कर  गौठान स्‍व्‍ सहायता समुहों द्वारा 5888 क्विंटल
वर्मी खद का उत्‍पादन किया जा चुका है एवं सहकारी समितियों के माध्‍यम से 1540 क्विंटल
वर्मी खाद रू 8 प्रति किलो की दर से किसानों को विक्रय किया जा चुका है।

गोधन न्‍याय योजना-

  • भुगतान- 20 जुलाई 2020 से लेकर 11 अक्‍टूबर 2021
    तक गोबार संग्राहकों व विक्रेताओं को 104
    , 41 करोड़ रूपए भुगतान किया गया।
  • महिला
    स्‍वसहायता समुहों को 25 करोड़ रूपए भुगतान।
  • गौठान
    समितियों को 37
    . 90 करोड़ रूपए भुगतान।
  • 52.21
    लाख क्विंटल गोबर की खरीदी।


style=”display:block”
data-ad-client=”ca-pub-4113676014861188″
data-ad-slot=”2075989413″
data-ad-format=”auto”
data-full-width-responsive=”true”>

गोधन
न्‍याय योजना से लाभान्वित-

  • 1
    लाख 81 हजार से अधिक हितग्राही लाभान्वित।
  • 84
    हजार 469 भूमिहीन लोग भी लाभान्वित।
  • गौठानों
    में रोजगार मूलक कामों से जुड़े 9 हजार 211 महिला समूह लाभान्वित।

गोधन न्‍याय योजना से लाभान्वितों का प्रतिशत-

  • 55 प्रतिशत पुरूष
  • 45 प्रतिशत महिलाएं।
  • अन्‍य पिछड़ा वर्ग 48.10 प्रतिशत।
  • अनुसुचित जनजाति वर्ग 40.58 प्रतिशत।
  • अनुसुचित जाति वर्ग 7.82 प्रतिशत।

  

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *