वाई फाई गुस्‍सा 😠WiFi Gussa, short story in hindi

kahani kahani kahani kahani I short story in hindi




😠”वाई
फाई गुस्‍सा”
😠

एक
बड़ी कंपनी के मालिक की एक दिन उसकी पत्‍नी से किसी बात पर लड़ाई हो गई परंतु उसे ऑफिस
जाने की जल्‍दी थी इस कारण वह लड़ाई को अधूरा छोड़ चलता बना । अब जगह उसने भले ही छोड़
दी थी
, पर क्रोध नहीं छोड़ पाया था लेकिन पत्‍नी सामने थी नहीं तो
निकाले किस पर अपना गुस्‍सा  सेा मजबूरी में
वह गुस्‍से कोदबाए हुए ही ऑफिस पहूंच गया। अब ऑफिस पहुंच तो गया था पर मन काम में लगने
का प्रश्‍न ही नहीं था भीतर का गुस्‍सा उबालें खारहा था और उसी क्रोधित अवस्‍था में
वह अपनी केबिन में यहां से वहां चक्‍कर लगा रहा था तथी विकली रिपोर्ट लेकर मैनेजर वहां
आ पहूंचा बस उसको अपना दबा हुआ गुस्‍सा निकालने की जगह मिल गई उसने रिपोर्ट चेक करान
आए मैनेजर की दो चार गलितियों जबरन निकालकर उसे बुरी तरह डांट दिया। 

अब मैनेजर को अपनी
गलती समझ में तो नहीं पर बॉस के सामने वह कह क्‍या सकता था बस चुपचाप मन में दबे क्रोध
के साथ के बिन से बाहर निकल आया। अब क्रोधित तो वह था ही बस अपनी केबिन में पहुंचते
ही उसने एकांउंटेंट को बुलवाया। हिसाब के पन्‍ने यहां वहां कर उसने उसे बेवजह डांट
दिया।

एकांउटेंट
का भी माथा ठनक गया । उसने अपनी बैठक पे जाते ही चपरासी को बुलवाया। अब चपरासी को डांटने
के लिए किसी वजह की भी क्‍या आवश्‍यकता उसने उस नामुराद चपरासी को बिना कारण जोरदार
डांट लगा दि। बेचारा चपरासी ऑफिस में तो चुपचाप अपमान का यह घूंट पी गया परंतु घर पहुंचकर
वह अपने पर काबू न रख सका। उसने एकांउटेंट का गुस्‍सा अपनी पत्‍नी पर निकाल दिया। पत्‍नी
का सर चकरा गया। उसने जाकर बाहर शांति से खेल रहे अपने बच्‍चों से मारपीट शुरू कर दी।
यानी कंपनी के बॉस और उसकी पत्‍नी के बीच रह गया अधूरा झगड़ा जाकर दूसरे मोहल्‍ले के
बच्‍चों में हुई आपसी मारपीट के साथ समाप्‍त हुआ।

सार एवं निष्‍कर्ष 

यह
थी कहानी वाईफाई गुस्‍सा
, अब जरा अपने जीवन पर ध्‍यान करें आप गुस्‍सा या तो अपनों
पर निकालते हो या अपने से कमजोंरो पर। और चूंकि गुस्‍से का नियम से दब नहीं सकता इसलिए
हरकोई शक्तिशालियों के विरूद्ध दबाया हुआ अपने गुस्‍से को कमजोरों व अपने वालों पर
निकालता रहता है अत: मानसिक रूप से समझदारी तो इसी में है कि अगर कोई आप पर आकारण क्रोध
निकाल रहा है तो उसका बुरा मानने या उसे पागल समझने की बजाए इसे उसके अपनेपन का सबूत
समझिए। और उससे आराम से प्‍यार से शांत कराने की कोशिश करें।




 See More- कौन सही 

story पढ़ना एवं सुनना किसे पसंद नही होती है और story हमें
हर तरह से शिक्षा देती है
 short story बनाने का मकसद ही
होता है कम समय में ज्ञान का विस्‍तार कर मनोरंजन एवं शिक्षा देना । इस पोस्‍ट में
 
short story in hindi के अंतर्गत वाई फाई गुस्‍सा नामक short
story
लिखा गया है हालां‍कि यह कहानियां सदाबहार है एवं अच्‍छी
मानसिकता बया करती है

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *