Teachers Day Speech on Hindi ! Teachers Day Speech In Hindi For Teachers

teachers day speech in hindi! teachers day speech in hindi for teachers

teachers day speech in hindi short ! teachers day speech in hindi





वक्रतुंड महाकाय, सुर्य कोटि समप्रभ:

र्निविघ्‍नं कुंरूमे देव शुभ कार्येषु सर्वदा।

श्री गणेश हम पर एवं प्‍यारे विद्यार्थीयों पर हमेशा कृपा बनायें रखें।

teachers day speech in hindi!
teachers day speech in hindi 


आदरणीय सम्‍मानीय इस कार्यक्रम के अतिथि महोदय श्री ……………….प्राचार्य श्री …………. प्रभारी श्री……………..शिक्षा समिति के
सदस्‍य …………कार्यक्रम अधिकारी श्री……………….स्‍टाफ….
……
एवं बाहर से आये अतिथि गण एवं भविष्‍य निर्माता मेरे प्‍यारे विद्याथियों
मैं आप सभी का तहे दिल से अनिनन्‍दन करता हूं।

आज शिक्षक दिवस (teachers day) में जो कि आप को मालूम है डा़ं सर्वपल्‍ली राधाकृषण्‍न
के जन्‍म दिवस पर मनाया जाता हैं उनका जन्‍म 5 सितम्‍बर को हुआ था। भारत के आजाद होने
के बाद उन्‍होंने भारत में बदहाल शिक्षा में सुधार करने के लिए अनेक प्रयास किये यही
कारण है कि उन्‍हें
राष्‍ट्र के शिक्षक का दर्जा दिया गया और उनके शिक्षा क्षेत्र में
सुधार करने के लिए उनको नमन करने के लिए यह दिन मनाया जाता हैं।

डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन  के जीवन के बारे
में देखें तो वे
एक महान आदर्शप्रशासकशिक्षकदार्शनिक एवं राजनितिज्ञ थे। इन्‍हीं योग्‍यताओं के आधार पर
वे काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय के कुलपति बने तथा भारत के उपराष्‍ट्रपति तथा राष्‍ट्रपति
पद पर आसीन हुए। वे एक मनीषी
शिक्षक
और सच्‍चे शिक्षाविद् थे। यही कारण है कि उनके नाम पर 5 सितम्‍बर को भारत में
शिक्षक दिवस मनाया जाता है।

डॉ. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन  स्‍वामी विवेकानन्‍द को
अपना आदर्श मानते थे। उनका कहना‍ था ।

” Education is manifestation of perfection
already present in man ”

समाज में अध्यापक का स्थान अत्यन्त महत्वपूर्ण हैवह एक पीढ़ी से दूसरे पीढ़ी को
बौद्धिक परम्पराओं व तकनीकी का कौशलों के हस्तान्तरण के साधन के रूप में तथा
सभ्यता की ज्योति को प्रज्जवलित रखने में सहायता प्रदान करता है ।
’’




एक टीचर
को कैसे होना  चाहिए इस पर कुछ महान व्‍यकित्‍व
का मानना है कि –

  • पण्डित जवाहर लाल नेहरू ‘‘अध्यापकों
    को
      अपने
    व्यक्तिगत मूल्यों व संस्कृति जो उसके साधन हैं
    को द्वारा अपने छात्रों को  उच्च मूल्यों को हस्तान्तरण
    में सहायता करनी चाहिए।

  • अध्यापकों को अंकुर को पूर्ण रूप से खिलने में सहायता प्रदान
    करनी चाहिए न की अपनी पूर्ति
      के लिए
    कृत्रिम पुष्प तैयार करने चाहिए ।
     नैतिक
    दृष्टि स्वायत्त व्यक्तित्व
     personality
    development 
    का विकास करना ही अध्यापकों के
    परीश्रम का लक्ष्य व परिणाम होना चाहिए ।
  • बालकृष्ण जोशी ‘‘शिक्षक
    को अपने को
      केवल
    श्रमजीवन नहीं समझना चाहिए जिसका कार्य 10 बजे आरम्भ होता है और 4 बजे समाप्त होता
    है जब वह अपने पैरों की धूल झाड़कर जीविका प्रदान करने वाले विद्यालय रूपी
    फैक्ट्री से बाहर जा सकता है।
    ’’



एक अच्‍छा
टीचर को में कौन से गुण होने चाहिए-

डॉराधाकृष्‍णन
ने अपने शिक्षा दर्शन में शिक्षक की अहम भूमिका को स्‍वीकार किया है।है। वे कहते
हैं कि सबसे महान शिक्षक वे हैं जिन्‍होंने हमारी सभ्‍यता और संस्‍कृति को जीवन्‍त
रखा हैं। शिक्षक देश के सांस्‍कृतिक विरासत को अक्षुण्‍य रूप से विद्यार्थी को
प्रदान करें। शिक्षकों के कार्यों तथा व्‍यक्तित्‍व का अमिट छाप विद्यार्थियों के
चरित्र पर अंकित होता हैं। उन्‍हें ज्ञान पिपासु होना चाहिए। डॉ राधाकृष्‍णन स्‍वयं
एक महान शिक्षक रहें।

sarvepalli radhakrishan an teachers day speech in hindi ! teachers day per speech in hindi

शिक्षकों के ज्ञानसमझकौशलसकारात्मक
दृष्टिकोण
आदतमूल्य एवं क्षमताओं से युक्त ऐसे
शिक्षक की संकल्पना की गयी है जिसमें निम्नलिखित गुण विद्यमान हों-

  1. बच्चों की देखभाल और उनके साथ प्रेमबच्चे के सामाजिकसांस्कृतिक एवं राजनैतिक सन्दर्भ को समझना । 
  2. बच्चों की आवश्यकताओं एवं समस्याओं को प्रति
    संवेदना विकसित करना तथा बच्चों के साथ समान व्यवहार करना ।
  3. बच्चों को ज्ञान के निष्क्रिय उपभोक्ता होने
    पर बच्चों के प्राकृतिक क्षमता के उपयोग द्वारा ज्ञान का सक्रिय निर्माता
    समझना ।
  4. रटन्त अधिगम को हतोत्साहित करनाअधिगम को आनन्दायक सहगामी एवं अर्थ पूर्ण
    गतिविधि के रूप में निर्मि त करना ।
  5. पाठ्यक्रम एवं पाठ्यपुस्तको को आलोचनात्मक
    परीक्षण करना पाठ्यक्रम के स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप बनाना ।
  6. ज्ञान को पाठ्यक्रम द्वारा प्रदान करने तथा
    बिना तर्क के स्वीकार करने को हतोत्साहित करना ।
  7. अधिगम केन्द्रितगतिविधि आधारितसहगामी अधिगम अनुभव जैसे- खेलपरियोजनाएंपरिचर्चा , वाद-विवादअवलोकन भ्रमण एवं स्वयं के अभ्यास से अधिगम
    को संगामी करना ।
  8. शैक्षणिक अधिगम को सामाजिक एवं अधिगमकर्ता के
    व्यक्तिगत वास्तविकताओं तथा कक्षा में विभिन्नताओं
      को सम्मान प्रदान करना । 

 


इस प्रकार
यह अच्‍छे शिक्षक को राष्‍ट्र निर्माण में मदद करता हैं। आज काभी दिनों बाद स्‍कूलों
में आफलाइन बोलने का मौका मिला । 
हाल के कुछ समय से कोरोना के कारण स्‍कूल बंद थे और शिक्षक ऑनलाइन क्‍लास
ले रहे हैं। तो ऐसा नहीं है कि टीचर अब घ्‍यान नहीं देगा । टीचर हर समय अपने स्‍टूडेंट
के बारे में उसको सही मार्गदर्शन किस प्रकार से ज्‍यादा से ज्‍यादा दिया जाए उस पर
वह महेनत करता रहा हैं। समय से साथ वह बेहतर तरीके से अपने आप को प्रस्‍तुत करता हैं।
अब स्‍कूल पूरी तरह से खूल चूके हैं और दिल लगा कर पढ़ाई के लिऐ तैयार रहना हैं।

कुछ बच्‍चों को उनकी परिस्थितियों के कारण वह हताश हो जाते हैं वे कहते हैं मेरा पढ़ाई
में मन नहीं लगता है। मैं क्या करू
?

मैं कभी गांव के बच्‍चो से मिलता हू तो वे कहते है कि हमे गांव में सुविधाए
नहीं मिलती हम कभी आगे नहीं बढ़ पायेंगे। मैं उनसे कहता हूं वह समय चला गया है जब केवल
शहरी लोगो का दबदबा रहता था आज एक सुदूर ग्राम जहां सडके नहीं बिजली नहीं सुविधा नहीं
है । ऐसे ही जगहों से अब प्रतिभा निकल रही है। जो समाज एवं देश का प्रतिनिधित्‍व कर
रहें हैं।आज भारत के सबसे बड़े पुरस्‍कार पद्म भुषण पद्म श्री भारत रत्‍न जैसे सम्‍मान
ऐेसे ही लोगों को दिेये जारहे हैं जिन्‍होंने समाज में अपना योगदान दिया है वह किस
स्‍थान से आये है वह मैटर नहीं करता है। मुझे भी पूरा विश्‍वास है हमारे बच्‍चें भी
इस आगे निश्चित ही जरूर ही सफल्‍ इंसान बनकर समाज और देश का गौरव बढ़ाऐंगें।

 

जब मैं हताश निराश एंव उम्‍मीद खो देता था तो मुझे मेरा टिचर कहते थें
कि ऐसी परिस्थिति में भगवत गीता के कुछ पंक्ति पढ़ो वह तुमको हौसला प्रदान करेंगें-
वह पंक्तियां इस प्रकार हैं-

Kyon
Vyarth Chinta Karte Ho?  Kisse Vyarth Darte
ho? Kaun tumhe maar sakta hai ? Aatma na paida hotee hai , Na marti hai !

1.
Jo Hua , Vah accha hua , Jo ho raha hai , Vah accha ho raha hai ! Jo hoga , Vah
bhee accha hee hoga ! Tum bhoot ka Paschyataap NA Karo ! Na bhavishya kee chinta
karo ! Vartmaan chal Raha hai vartmaan me jiyo!

2.
Tumhara kya gaya jo tum rote ho? Tum kya laaye the , Jo tumne kho diya ? Tumne kya
paida kiya tha jo naash ho gaya ? Na tum kuch lekar aaye, Jo liya yahin se liya
, Jo diya yahin par diya ! Khaali haath aaye, khaali haath chale jaoge ! Jo aaj
tumhara hai , kal kisi aur ka tha, Parson kisi aur ka hoga ! Tum ise apna samajh
kar magn ho rahe ho, Bass yahi parsantta tum hare dukhon ka karan Hai !

3.
Parivartan sansar ka Niyam  hai ! Jise
tum mrityu samajhte ho Vahi toh jeevan hai ! Ek xnnme in
tum karodon ke swami ban jaate ho, dusre hee xann tum darider ho jaate ho! Tera
mera chotta badda , apna paraya , mann se mita do, Vichaar se hata do Phir sab
tumhara hai aur tum sabke ho!




4.
Na yah Sarir tumhara hai , Na tum is ssharir ke ho! Yah Agnee , Jal , Vayu ,
Prithvi , Aakash se bana hai aur issi mein mil jayega ! parntu aatma sathir hai
phir tum kya ho ? Tum apne aapko bhagvan ko arpit karta chalo , yahi sab se uttam
sahara hai ! Jo iss share ko janta hai vah bhay, chinta, shauk se mukt rahta hai
!

5. Jo kuch bhee tu karta hai use bhagwan ko arpit karta
chal ! Aisa karn se tu sada Jeevan – mukt 
kaa anand anubhav karega
!


मैं कम समय में अपनी बात खतम करूंगा। कुछ टिप्‍स है जो
कि मैं आपको देना चाहता हूं।

जिंदगी में यह 5 बातें जरूर याद रखना जो कि आगे एक सफल इंसान बनने में
आपकी मदद करेगी-

  • हमेशा अपने टीचर्स , परिवार एवं दोस्‍तों का सम्‍मान करना उन्‍हें अपने ह्दय
    में बसा के रखना।
  • जिन्‍दगी में हमेशा अच्‍छी चीजे सीखते रहना। चाहे वह आप से छोटा हो या
    बड़ा और जिस दिन आपने सीखना छोड़ दिया तो समझो आपकी कहानी खत्‍म।
  • हमेशा अपने पर पूरा विश्‍वास बनाये रखना  मतलब आत्‍मविश्‍वास बनाये रखना।
  • हमेशा सक्रिय तैयार चुनौतियों के लिए। अपने लक्ष्‍य पर ध्‍यान रखना।
  • और अन्‍त में कभी हार नही मानना जब तक मंजिल नहीं मिल जाती।

 

अन्‍त में विद्यार्थी के आगामी परीक्षाओ के लिए ठेर सारी शुभकामनाए देता
हूं

मै आप सभी की उज्‍जवल भविष्‍य की कामना करता हूं। all the best all of you

👍thank you
so much
👋

See video format

tags-teachers day speech in hindi short ! teachers day speech in hindi

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *