Soils Of Chhattisgarh।।छत्‍तीसगढ़ की मिट्टीयां

 

छत्‍तीसगढ़ की मिट्टीयां ।। Soils Of Chhattisgarh 

⦿प्राकृतिक
संसाधनों में मिट्टी सबसे महत्‍वपूर्ण एंव आधारभूत संसाधन है।


style=”display:block; text-align:center;”
data-ad-layout=”in-article”
data-ad-format=”fluid”
data-ad-client=”ca-pub-4113676014861188″
data-ad-slot=”8191708762″>

`

मिट्टी
के प्रकार :- छत्‍तीसगढ़ की मिट्टियों केा 4 भागों में‍ विभाजित करते हैं-


1-वरटीसॉल

2-इनसेप्‍टीसॉल

3-अलफीसॉल

4-अल्‍टीसॉल


मृदा वर्ग

आर्द्रता की दशा

तापमान

प्रधान वनस्‍पति

वरटीसॉल

अल्‍प आर्द्र से शुष्‍क

शीतोष्‍ण से उष्‍णकटिबंधीय

घास क्षेत्र

इनसेप्‍टीसॉल

 

आर्द्र

उष्‍णकटिबंधीय

वन

अलफीसॉल

 

अल्‍प आर्द्र से आर्द्र

उष्‍णकटिबंधीय

चौड़ी पत्‍ती के पतझड़ वाले वन

अल्‍टीसॉल

 

आर्द्र

शीतोष्‍ण से उष्‍णकटिबंधीय

वनस्‍पति

 

मिट्टियों
का सामान्‍य वर्गीकरण
-Types of soils in chhattisgarh


⦿प्रदेश
की मिट्टियों को स्‍थानीय आधार पर 4भागों पर विभाजित किया जाता है-


  1. कन्‍हार
    मि‍ट्टी
  2. मटासी
    मिट्टी
  3. डोरसा
    मिट्टी
  4. भाठा
    मिट्टी

कन्‍हार
मिट्टी
(KANHAR
SOIL)
:- 

⦿यह मिट्टी प्रदेश की सबसे अधिक उपजाऊ मिट्टी है।


⦿यह गहरी
मिट्टी
है जिसका रंग गहरा काला या भूरा काला होता है। 


⦿इसकी संरचना अत्‍यन्‍त बारीक
होती है।


 ⦿इसमें चूना, पोटाश, एल्‍युमिनियम
पोटाश तथा लोहा
की मात्रा अधिक होती है और फास्‍फेट
, नत्रजन
तथा जीवाश्‍म का अभाव
होता है।


मटासी
मिट्टी 
(MATASHI
SOIL):- 

⦿यह प्रदेश की दूसरी महत्‍वपूर्ण उपजाऊ मिट्टी है।


⦿ मटासी
मिट्टी कन्‍हार की अपेक्षा अधिक तथा भाटा की अपेक्षा कम ऊंचाई पर पायी जाती है।

 

⦿इसमें रेत की मात्रा अधिक होने से अपवाह अच्‍छा होता है किन्‍तु जल धारण करने की
क्षमता सीमित होती है। 


⦿उर्वरता वाली मटासी मिट्टी पायी जाती है। यहां की मिट्टियों
अम्‍लीय होती हैं।


style=”display:block; text-align:center;”
data-ad-layout=”in-article”
data-ad-format=”fluid”
data-ad-client=”ca-pub-4113676014861188″
data-ad-slot=”8191708762″>

डोरसा
मिट्टी
(DORSA
SOIL):- 

⦿यह ग्रेनाइट शैल समूह से निर्मित मिट्टी है। 


⦿प्रदेश की यह
तीसरी महत्‍वपूर्ण मिट्टी है। 


⦿यहा गहरे भूरे रंग की होती है। 


⦿यह काली कन्‍हार
तथाहल्‍की मटासी मिट्टी
का मिश्रण है। 


⦿इसकी दो श्रेणियां होती है। पहली श्रेणी की
मिट्टी अधिक उपजाऊ मानी जाती है।


⦿ कन्‍हार की अपेक्षा डोरसा हल्‍के रंग की होती है।


भाठा
मिट्टी
(BHATA
SOIL) :- 

⦿यह लाल भूरी मिट्टी है जो कूटकों की शिखरों उच्‍च भूमि पर
पायी जाती है। 


⦿हसदो नदी के बायी ओर जैजैपुर ब्‍लाक में एक विस्‍तृत क्षेत्र में
मिलता है।


 ⦿यह कठोर और उथली होती है जो अपरदित हो जाती है। 


⦿इस तरह मिट्टी का उपजाऊ
पन प्रवाहित हो जाता है। इस का स्‍वरूप ईट जैसा दिखता है।

👉अन्‍य
मिट्टियों में पाल कछार और पटपर कछार प्रमुख हैं। 


⦿वास्‍तव  में ये मिट्टियों नदियों के किनारे एवं बड़े
सरोवरों के किनारे पायी जाती हैं। 


⦿पाल कछार भूरे रंग की गाद सिल्‍ट उपजाऊ मिट्टी
होती है।


 ⦿यह मिट्टी उद्यान फसलों के लिये बड़ी उपयोगी होती है। 


⦿यह महानदी एवं उनकी
सहायक नदियों के तटीय निचलें भागों पर पायी जाती है। 


⦿यह चिकनी मिट्टी बड़ी उपजाऊ
होती है। 


⦿पटपर कछार मि‍ट्टी नदी के पास की मिट्टी होती है जो उंचे भागों में पायी जाती
है।


chhattisgarh ka bhugol

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ में वन

 इन्‍हें भी देखें 👉पहाड़ी कोरवा ।। Pahadi Korwa Chhattisgarh Tribes

इन्‍हें भी देखें 👉भुंजिया जनजाति ।। Bhunjiya janjati chhattiasgarh tribes

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़  की विशेष पिछड़ी जनजाति के नाम

इन्‍हें भी देखें 👉Chhattisgarh Special Facts

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के सभी विश्‍वविद्यालय के कुलसचिव की सुची 

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ में पद्मश्री पुरस्‍कार प्राप्‍त सुची

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़  संगीत नाटक अकादमी सम्‍मान सुची

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के सीमेन्‍ट उद्याेग

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍य सचिव की सुची  

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के राज्‍यपाल क्रमवार सुची

इन्‍हें भी देखें 👉महानदी जल विवाद

इन्‍हें भी देखें 👉प्रमुख निधन छत्‍तीसगढ़ 2020-21

इन्‍हें भी देखें 👉बोधघाट बहुउद़ेशीय सिंचाई परियोजना

इन्‍हें भी देखें 👉गौरेला पेन्‍ड्रा मरवाही जिला जानकारी

इन्‍हें भी देखें 👉गुरू घासीदास जी के अनमोल वचन

इन्‍हें भी देखें 👉बस्‍तर राजा प्रवीर चंद भंजदेव बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉भुपेश बघेल जी बायोग्राफी 

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ कैबिनेट मिनिस्‍टर बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉पदूपलाल पुनालाल बक्‍शी बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉भुपेश बघेल जी बायोग्राफी 

इन्‍हें भी देखें 👉बस्‍तर में भूकंप ( भूमकाल) 1910 का विद्रोह

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ की अद्भूत पहाड़ी कोरवा जनजाति का रहस्‍य।।

इन्‍हें भी देखें 👉तुम पेंड़ काटोगें हम तुम्‍हारा गला काटेंगे। कोई विद्रोह का सच

इन्‍हें भी देखें👉जल उठा था दन्‍तेवाड़ा जब दंतेश्‍वरी मंदिर में नरबली दी जाती थी

इन्‍हें भी देखें👉पंडवानी गायिका तीजन बाई का जीवन

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ी राज्‍य गीत – अरपा पैरी के धार 

इन्‍हें भी देखें👉 महान लोग जब छत्‍तीसगढ़ पहूंचे

इन्‍हें भी देखें👉सीजी फोटो फैक्‍ट  

इन्‍हें भी देखें👉 गुरू घासीदास जीवनी 

इन्‍हें भी देखें👉पंडित रविशंकर शुक्‍ल का सम्‍पूर्ण जीवन 

इन्‍हें भी देखें👉रामानुजन का कैम्ब्रिज विश्‍व विद्यालय पहुंचने का सफर  

इन्‍हें भी देखें👉अजीत प्रमोद जोगी का जीवन 

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ के सभी जिलों के कलेक्‍टर के नाम 2020- 21 

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ में सामंती राज 

इन्‍हें भी देखें👉छ0ग0 व्‍यापम नौकरियां आगामी 2021 

इन्‍हें भी देखें👉छ0ग0 मंत्रालय वर्तमान रिक्‍त पदों की जानकारी 2021 

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ जिला खनिज संस्‍थान न्‍यास CGDMF

इन्‍हें भी देखें 👉 CGPSC STATE SERVICES APPLICATION 2020-21

इन्‍हें भी देखें 👉ब्‍लॉग क्‍या है ब्‍लॉग की बेसिक जानकारी

इन्‍हें भी देखें 👉इंटरनेट का असली मालिक कौन

इन्‍हें भी देखें 👉फोटोकापी मशीन कार्य कैसे करता है। 

इन्‍हें भी देखें 👉गूगल के 10 शानदार प्‍लेटफार्म जिसे जरूर यूज करना चाहिए 

इन्‍हें भी देखें👉श्री शनि देव चालिसा एवं शनि आरती 

इन्‍हें भी देखें👉सर्व कार्य सिद्धी मंत्र शादी नौकरी ट्रांसफर मंत्र

इन्‍हें भी देखें👉सर्दियों में स्‍कीन केयर पुरूष  

इन्‍हें भी देखें👉यह लक्षण दिखें तो तुरन्‍त डॉक्‍टर के पास जायें वरना…. 

इन्‍हें भी देखें 👉नये वायरस की जानकारी, लक्षण, स्थिति एवं लिस्‍ट 

इन्‍हें भी देखें👉बिच्‍छू के काटने पर क्‍या करें ।  

 इन्‍हें भी देखें👉डायबिटिज मधुमेह शुगर की पूरी जानकारी  


Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *