SEO kya hai (Search engine optimization)-On Page SEO, Off Page SEO

SEO kya hai (Search engine optimization)! On Page SEO kya hai ! Off Page SEO kya hai




Seo-(Search engine
optimization)


SEO kya hai – 

Seo-(Search
engine optimization) वो टेक्‍नोलॉजी है जिसके जरिये इंटरनेट की
सर्च इंजिन जैसे गूगल
, बिंग, याहूं,डक डक गो, की सर्च लिसिटंग में पेज में आ सकते हैं। वेबसाइट
या ब्‍लाग इन सर्च इंजिन की रिजल्‍ट में शो हो जाती हैं।
Seo-(Search engine
optimization) का महत्‍व ऐसा है कि इसके बिना इंटरनेट में लम्‍बे
समय तक अपनी सामग्री को दिखाया नहीं जाता है। इंटरनेट का प्रयोग आज विश्‍व लगातार
बढ़ता ही जा रही है। लोग सर्च इंजिन्‍स में कुछ न कुछ सर्च करते ही हैं।

SEO kyu jaruri hai-

उदाहरण- हमने कोई
प्रोडक्‍ट जैसें अपनी बनाई ड्रेस इंटरनेट पर डालना चाहते हैं ऐसी स्थिति में यदि आपने
Seo-(Search engine optimization) नही किया है ऐसे ही फोटो
और नाम लिखकर डाल दिया है तो वह सर्च इंजिन्‍स में शो नहीं होंगे लोगों को सीधे तौर
पर आपके वेबसाइट का नाम सर्च करना होगा जिसके लिए आपको विज्ञापन में लाखों का खर्चा
करना होगा। वही यदि आपने
Seo-(Search engine optimization) किया
है तो वह दुनिया में कोई भी सर्च करें तो जैसे
Best Dresses in 1000 in
india
तो आपके प्रोडक्‍ट बिकने की
संभावना बढ़ जाएगी और आपको प्रोफिट भी होगी।

SEO ka benefit

Seo-(Search engine
optimization)
का किसी भी वेबसाइट या ब्‍लाग, या
प्रोडक्‍ट या सेवाओं को सही तरीके से सजाकर या ऑप्टिमाइज करके इंटरनेट पर सबसे टाप
पर लाया जा सकता है। और टाप पेज पर साइट शो हो निश्चित रूप से कई अधिक लाभ होता है।
Seo-(Search engine optimization) में वेबसाइट को डिजाइन और डेवलप
करना इंटरनेट पर वेबसाइट के ट्रेफिक की क्‍वालिटी और संख्‍या को बढ़ाया जाता हैं।

Search engine
optimization ये टेक्‍नॉलाजी वेबसाइट को गूगल सर्च के टाप पेज में और
पहले स्‍थान पर पहूंचाने की क्षमता रखता है। जिससे विजिटर बढने की संभावना बढ़ जाती
है और आपके वेबसाइट या बिजनेस को ज्‍यादा एक्‍सपोजर मिलता है जिससे हमारी सेवाओं एव
सामग्री को पापुलेरिटी एवं ब्रांडिंग मिलती है। जिससे मार्केट एवं इंटनेट के दुनिया
में विश्‍वास बनता हैं। सर्व इंजन के टाप 3 में आने पर ज्‍यादा से ज्‍यादा क्ल्कि होते
है। इस तरह टॉप रिजल्‍टस में आया जा सकता है। इसके लिए
Search engine
optimization करना जरूरी होता हैं।

Type of Search
engine optimization-

  • On Page Search
    engine optimization-

वेबसाइट बहुत सारे वेब पेजों से मिलकर बनता है सभी वेब पेजेस को इंटरलिंक करके
वेबसाइट बनाई जाती है।
On Page Search engine optimization में पूरे वेबसाइट को प्रमोट करते हैं, जिससे की वेबसाइट
का प्रत्‍येक वेब पेज
Search engine में अच्‍दी रेंक आ जाये इसके
लिए हमारे
Search engine optimization का सही और उचित प्रयोग
करना जरूरी है।
On Page Search engine optimization का काम वेबसाइट
की डिजाइन
, वेबसाइट टेम्‍पलेट, को एक जुट
कर वेबसाइट को युजर फ्रंडली बनाता है।  वेबसाइट
को इंटरनेट की नियमावली के अनुसार कोड एवं प्रमोट करके सेटर करना होता हे। कीवर्ड और
क्‍ल्‍वालिटी कंटेंट का उपयोग ताकि क्रोल बोट ये आसानी समझ पाए कि इस वेबसाइट में किस
तरह का कांनटेन्‍ट है।

Off Page Search
engine optimization के लिए प्रमुख फैक्‍टर-

  • Quality Content
  • keywords
  • Website URL name
  • Web pages Title
  • user Freindly web
    pages

OFF Page Search
engine optimization-

इस प्रकार के सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन में सारे काम
वेबाइट या ब्‍लाग के बाहर होते हैं। इसमें प्रमुख फेक्‍टर शामिल है-
link
Building, forum posting,content marketing, video sharing, image
sharing, bussiness listing, classified posting, referral link, affiliate
mARKETING, FAQ, review Posting etc
OFF Page Search engine optimization से अपने प्रोडक्‍ट
या सर्विस को लम्‍बे समय तक सर्च इंजन पर प्रदिर्शत्‍ करते हैं जिससे ज्‍यादा से ज्‍यादा
हिट्स ओर विजिटर पा सकते हैं।

SEO-Search engine
optimization Techniques-

  • White hat Search
    engine optimization
  • Black hat Search
    engine optimization


Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *