migraine- meaning, Symptoms, Causes, treatment, types ! migraine in hindi

migraine- meaning, Symptoms, Causes, treatment, types ! migraine in hindi

क्या माइग्रेन का इलाज संभव है! माइग्रेन, माइग्रेन के लक्षण और उपाय, माइग्रेन की टेबलेट, माइग्रेन रोग क्या है, माइग्रेन हिंदी, माइग्रेन के नुकसान

migraine meaning,in hindi Symptoms,Causes,treatment,types in hindi माइग्रेन हिंदी माइग्रेन ट्रीटमेंट माइग्रेन सलूशन इन हिंदी माइग्रेन पतंजलि सिम्पटम्समाइग्रेन, माइग्रेन के लक्षण और उपाय, माइग्रेन की टेबलेट, माइग्रेन रोग क्या है, माइग्रेन हिंदी, माइग्रेन के नुकसान


migraine Meaning माइग्रेन क्‍या हैं-

इसे हिन्‍दी में आधासीसी व अधकपारी भी कहते है जिसका अर्थ
सिर के आधे हिस्‍से में तेज दर्द का होना।

Migraine बिमारी
में तीव्र सिर दर्द होता हैं यह सिर के पीछे दायें और बायें सामने बीच में कई
प्रकार से होता हैं। 
migraine pain के समय लगता हैं जैसे नसें
फट जाएगी और कभी कभी घबराहट महसूस होती हैं। दर्द के समय लगता हैं कि किसी प्रकार
का  इलाज न करें तो अंत निकट हैं। पर यह
सिर्फ भ्रम हैं । इसके समान्‍यत इलाज से ठीक किया जा सकता हैं।




हालांकि
इसके असल कारण निश्चित नहीं हैं कई अलग लक्षण देखेनें को मिलते हैं। पर इसका
प्रमुख कारण ब्रेन में खुन का प्रवाह सही नहीं होने के कारण ब्रेन में गडबड़ी हो
जाती हैं जिसके कारण माइग्रेन होता हैं।

migraine Symptoms सिम्पटम्स ऑफ़ माइग्रेन– 

  • migraine माइग्रेन शरीर में धातु दोष होने के कारण होता
    हैं।
  • तेज
    सिर में दर्द अत्‍यधिक बेचैनी का होना कही मन न लगना ।
  • रोशनी
    एवं आवाज से चिड़ लगना।
  • चेहरे
    मे रौनक खत्‍म हो जाती हैं।
  • अकेले
    बंद अंधेरे कमरे में रहने का मन करना।
  • Migrains
    headache
    के साथ उल्‍टी
    आना
    , ऑख में दर्द होना।
  • खाने
    की बिलकुल ईच्‍छा न करना।
  • दर्द
    के साथ चक्‍कर आना एवं हाथ पैर में झंझनाहट होना।  

 

 migrain
Causes 
माइग्रेन का दर्द क्‍यों होता है। 

माइग्रेन का दर्द के कारण कई हो सकते हैं-

गैस
के बनने के कारण
, पेट का खराब रहना, गले
गर्दन में कोई दर्द या समस्‍या
, हाई ब्‍लड प्रेशर, लिवर
में समस्‍या
, कान दर्दके कारण, दांत
दर्द के कारण
, सिर को कोई चोट अथवा ब्रेन ट्युमर या ब्रेन में काई समस्‍या, अचानक
मौसम में बदवाल के कारण
, ऑखों की कमजोरी या दर्द के कारण, या
मानसिक थकान के कारण भी यह 
migraine अचानक आ जाती हैं।

महिलाओं
में 
migraine का कारण-

सामान्‍यत:  म‍हिलाओं
में यह माइग्रेन प्रॉब्लम बहुत पुरूषों की तुलना में अधिक पायी जाती हैं। कुछ कारण जैसें- अधिक मेहनत का काम करना
,
सैक्‍स रोग एवं गर्भ निरोधक गोलियां का अधिक सेवन करने के कारण migraine या आधासीसा या अधपाकरी हो सकती हैं।

  • अक्‍सर
    या किसी निश्चित समय पर
    यह जेनेटिक्‍स या वंशानुगत भी
    हो सकता हैं।
  • अत्‍यधिक
    तेज धूप में सफर या काम करने से ।
  • दिन
    भर पसीने बहने के कारण संधा से प्रांरभ होकर जब तक नींद न आ जायें।
  • इलेक्‍ट्रोनिक
    डिवाइस के लगातार प्रयोग से भी आंखों के माध्‍यम से यह बीमारी हो जाती हैं।
  • निरंतर
    शराब के सेवन के कारण भी।
  • गर्मी
    के मौसम में ज्‍यादातर देखा जाता हैं।
  • अत्‍यधिक
    तेल मसाला खाने वाले व्‍यक्ति को यह हो सकता हैं।



माइग्रेन ट्रीटमेंट migraine treatment माइग्रेन का उपचार

Migraine Acupressure Point Treatment माइग्रेन ऐक्‍यूप्रेशर प्‍वांइट इलाज

Acupressure
point पद्धति द्वारा हाथों एवं पैरों के एक निश्चित पाइंट या बिन्‍दुओं
पर प्रेशर दिया जाता हैं। एवं उन केंन्‍द्रों पर प्रेशर दिया जाता हैं तो दबाने से
दर्द करते हो। यह केन्‍द्र मुख्‍यत : गर्दन के पीछे की तरफ एवं रीढ़ की हड्डी से
दूर दोनों तरफ अंगूठे से प्रेशन दिया जाना चाहिए। 
migraine में
सबसे अधिक प्रभावी केन्‍द्र हाथ के अंगूठे एवं तर्जनी के बीच के स्‍थान पर दिन में
2-3 बार 2-5 मिनट दर्द की अधिकता के अनुसार तक हल्‍का प्रेशर देने से तेज सरदर्द
से शीघ्र राहत मिलती हैं एवं दर्द दूर हो जाता हैं।

Ayurvedic treatment आयुर्वेदिक उपचार-

  • सिर के जिस हिस्‍से में दर्द हो रहा हैं उस दिशा में नाक
    में संतेर के छिलके का रस बनाकर डालने से आराम मिलता हैं।
  • घी देशी गाय का हो उसे नाक में बुंद के रूप में डालें।
  • शहद के साथ पीपली(छोटी) का पाउडर बनाकर दोनों को मिलाकर
    चाटने से माइग्रेन ठीक होने में असरकारक है।
  • मेहंदी के पत्तों को पीसकर पेस्‍ट बनाकर सिर पर लेप बनायें।
    आराम मिलता है।

Migraine होमोपैथी ट्रिटमेंट-

migraine का रामबाण इलाज homeopathy द्वारा संभव माना
जाता हैं। लेकिन यह तुरन्‍त असर नहीं करता हैं उसके लम्‍बे दवा के सेवन के यह पूरी
तरह से ठीक हो जाता हैं। 

homeopathy में किसी भी दवा को 1से
2 साल तक निरंतर प्रयोग करें तो यह जड़ से खत्‍म कर देता हैं। 
homeopathy migraine ट्रिटमेंट के अंतर्गत कई सारी अलग लक्षण के लिए अलग दवा दी जाती
हैं। कुछ दवाएं इस प्रकार हैं

  • Glonoine
    30
  • sanguinaria
    can 200
  • Spigella
    200
  • Iris
    Ver 200
  • nux
    Vomica 30
  • chionanthus
    Q
  • can
    Indica 200

वर्तमान
में सभी दवाओं को एक दवा बनाकर भी मरीज को दी जाती हैं।

  • जैसे Dr.Reckweg
    R16 drops.

इन
दवाओं को स्‍वत: न लें पहले डॉक्‍टर से कंन्‍सलटेसी लें अपनी पूरी समस्‍या बताकर
आपके पूरी जानकारी के अनुसार उपयुक्‍त दवा दी जाती हैं। होमोपैथी में लक्षण के
अनुसार ही दवा निश्चित की गयी हैं। थोड़े से लक्षण बदलने पर दवा भी बदल जाती हैं।




Allopathy migraine Treatment-

एलोपैथी में migraine का इलाज
तत्‍काल ठीक कर देता है या आराम पहुचाता है मगर पूरी तरह से ठीक नही करता हैं तुरन्‍त  लाभ तो मिलेगा मगर निरंतर
tablet खाकर आप थक जाऐगें। ऐसे में न्‍यूरों सांइस के मदद से ऑपरेशन कर परमानेंट ट्रिटमेंट
किया जाता हैं।

Allopathy migraine tablet name-

Migran Ergotamine
Tartrate
.
एक पत्ते में 10 टेबलेट
आता हैं।


Migraine types माइग्रेन के प्रकार 

  • जटिल माइग्रेन
  • सामान्‍य
    माइग्रेन
  • हेमिप्‍लेगिक
    माइग्रेन
  • रेटिनाल
    माइग्रेन
  • बिना सिर
    दर्द वाला माइग्रेन
  • क्रोनिक
    माइग्रेन
  • सेर्विकोजेनिक
    हेडेक
  • आइस पीक
    हेडेक
  • कल्‍सटर
    हेडेक

  • See more💬 प्रीमेंस्‍ट्रूयल सिंड्रोंम पूरी जानकारी 
  • See more💬पिम्‍पल कैसें हटायें। 
  • See more💬 वैरिकोश वेन्‍स पूरी जानकारी 
  • See more💬 सिजेरियन डिलिवरी पूरी जानकारी 
  • See more💬 ज्‍यादा लहसुन खाने के नुकसान 
  • See more💬 गौमुत्र के चमत्‍कारी लाभ 
  • See more💬 टमाटर से चेहरे एवं हेल्‍थ को बनाये टिप टाप  
  • See more💬देशी घी का सही प्रयोग एवं लाभकारी उपाय 

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *