Dadariya Geet-ददरिया गीत

Dadariya Geet

छत्तीसगढ़ी ददरिया गीत (Dadariya Geet)

ददरिया गीत (dadariya geet)- ददरिया गीत प्रेम गीत हैं जिनमें
श्रृंगार की प्रधानता होती है। छत्तीसगढ के लोक गीतों में ददरिया युवा मन की अभिव्‍यक्ति
का अत्‍यंत सशक्‍त माध्‍यम है। ददरिया गीत
 (dadariya
geet) 
की स्‍वीकृति छत्तीसगढ़ी लोक जीवन और साहित्‍य में प्रेम
काव्‍य के रूप में हुई है लोक गीति काव्‍य के श्रेष्‍ठ उदाहरण ददरिया गीत
 (dadariya geet) में दो दो पंक्ति के पद होते हैं इसे
स्‍त्री पुरूष मिलकर या पृथक दलों में गा सकते हैं। 

ददरिया गीत (dadariya geet)प्राय: सवाल जवाब के रूप में गाया
जाता है। आसपास की किसी भी घटना को लेकर उससे ददरिया गीत बनाने में छत्तीसगढ़ के
ग्रामीण युवक
युवतियां पारंगत होते है। युवा ददरिया गीत (dadariya geet) के साथ नृत्‍य भी करत हैं
दशहरे के अवसर पर एग गांव के नर्तक युवक दूसरे गांव जाते हैं
जहां युवतियां इस दल का स्‍वागत ददरिया नृत्‍य और गीत से
करती हैं।

 सवाल जवाब के माध्‍यम से अपने मन की बात युवा यवतियां प्रकट करते हैं। ददरिया गीत (dadariya
geet)  
किसी भी अवसर पर गाया जा सकता है।

 

ददरिया गीत (dadariya geet)-


कया के पेड़ मा कया नइए।


निरदई तोर शरीर मा दया नइए।।


हंडि़या के मारे तेलई फुट जाय।


चारी चुगली के मारे पिरित छुट जाय।।


तावा के रोटी तावा म जरि जाय।


दुजहा ला झन देवे कुंआरी रहि जाय।।


पीपर के पाना हलर-हइयॉ।


दुई डौकी के डौका कलर – कइयॉ।।


धनिया पुदीना मिरचा अउ सोंठ।


आगू पाछू ला नई सोचयँ डारत हें वोट।।


नवा रे कैंची धरायेला सान।


सीता माई के मुंदरी ला रावन मांगे दान।।


चंदा तोर दाई सुरूज तोर बाप।


गढ़ लंका तोर मइके दुरूग ससुरार।।


रस्‍ता ला रेंगे खोर ला डांके।


गोरी खोंचे करौंदा गली मा मटके।।


फूटहा रे मंदिर, कलस तो नइये।


दू दिन के अवइयां, दरस तो नइये।

ददरिया गीत (Dadariya geet English)-


Kya Ke Ped Ma Kaya Niei


Niradai Tor Sharir Ma Daya Niei


Handiya Ke Maare Telai Foot Jaya


Chari Chugli Ke Maare Pirit Chhut Jaya


Tava K Roti Tava Ma Jari Jaya


Duzha La Jhan Deve Kunari Rahi Jaya


Peeper K Pana Haler-Haiyau


Dui Dauki K Dauka Colour – Kaiyou


Dhaniya Pudina Mircha Au Sontha


Agu Pachhu La Nai Sochayan Darat Hen Vote


Nava Re Kainchi Dharayela San


Seeta Mai K Mundari La Ravan Maange Dana


Chanda Tor Dai Surooj Tor Bapp


Gadh Lanka Tor Maike Durug Sasurar


Rasta La Renge Khor La Danke


Gori Khonche Karaunda Gali Ma Matke


Futaha Re Mandir, Kalas To Naiye


Do Din Ke Avaiyan, Daras To Niye



See More-

  • Chhattisgarhi Bihav Geet । छत्तीसगढ़ी बिहाव गीत
  • Chhattisgarhi Karma Geet छत्तीसगढ़ी कर्मा गीत
  • Panthi Geet । पंथी गीत । Panthi Gana
  • Bhojli Geet । भोजली गीत । Cg Bhojli Geet
  • Chhattisgarhi jas geet । जस गीत
  • Cher Chera Geet । छेरछेरागीत

3 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *