महानदी जल विवाद MAHANADI JAL VIVAD

महानदी जल विवाद 

महानदी जल विवाद



महानदी का यह विवाद 1983 से चलता
आरहा है
, ये नदी ओडिसा और छत्‍तीसगढ़
के लिए बेहद जरूरी मुद्दा है। जिसे लेकर दोनों राज्‍य में लंबे समय से बहस जारी
है। महानदी जल विवाद का मामला ट्रिब्‍यूनल में है।

ओडिशा सरकार ने ISRWD 1956 की धारा 3
के तहत ओडिशा और
छत्‍तीसगढ़
राज्‍यों के बीच महानदी जल विवाद को निपटाने के लिए एक अंतरराज्‍यीय जल विवाद न्‍यायधिकरण
के गठन के लिए केन्‍द्र सरकार को पत्र लिखा । मंत्रालय ने एक समझौता सि‍मति का गठन
किया। इसकी दो बैठकें हुई। परन्‍तु ओडिशा ने इसमें भाग नहीं लिया। ओडिशा ने
सर्वोच्‍च न्‍यायालय में दावा दायर किया। सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने 23 जनवरी 2018 को
दिये अपने आदेश में केन्‍द्र सरकार से विवाद हल करने के लिए एक न्‍यायाधिकरण के
गठन की बात कहीं।

केंद्र सरकार ने महानदी जल विवाद न्‍यायाधिकरण
का गठन किया था।

  • न्‍यायमूर्ति श्री ए0एम0 खानविलकर
    अक्ष्‍यक्ष भारत के सर्वेाच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायाधीश
  • न्‍याय‍मूर्ति डॉ, रवि रंजन सदस्‍य-
    पटना उच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायधीश
  • न्‍यायमूर्ति श्रीमति इंदरमीत कौर
    कोचर
    -सदस्‍य दिल्‍ली उच्‍च न्‍यायालय के न्‍यायधीश

 

जल संसाधन नदी विकास तथा गंगा
संरक्षण मंत्रा लय के सचित श्री यू0पी0सिंह ने अंतराज्‍यीय नदी जल विवाद अधिनियम
1956 की धारा 5 )(1) के तहत महानदी जल विवाद न्‍यायाधिकरण के अक्ष्‍यक्ष और
सर्वोच्‍चन्‍यायालय के न्‍यायाधीश न्‍यायमूर्ति ऐ0एम0 खानविलकर को महानदी जल विवाद
की संचिका सौंपी।

नदी जल विवाद से जुड़े संवैधानिक
प्रावधान

अंतरौज्‍यीय नदी जल विवाद के निपटाने
हेतु भारतीय संविधान के अनुच्‍छेद 262 (2) के अंतर्गत उच्‍चतम न्‍यायालय को इस
मामले में न्‍यायिक पुनर्विलोकन और सुनवाई के अधिकार से वंचित किया गया है।

 

अनुच्‍छेद 262 संविधान के भाग 11 का
हिस्‍सा है जो कंन्‍द्र -राज्‍य संबंधों पर प्रकाश डालता है।

अनुच्‍छेद 262 के अंतर्गत अंतराज्‍यीय
नदी जल विवाद अधिनियम 1956 को लाया गया। इस अधिनियम के तहत संसद को अंतरौज्‍यीय
नदी जल विवादों के निपटारें हेतु अधिकरण बनाने की शक्ति प्रदान की गई
, जिसका निर्णय उच्‍चतम
न्‍यायालय के निर्णय के बराब‍र महत्‍तव रखता है।




इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ में पद्मश्री पुरस्‍कार प्राप्‍त सुची

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़  संगीत नाटक अकादमी सम्‍मान सुची

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के सीमेन्‍ट उद्याेग

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍य सचिव की सुची  

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ के राज्‍यपाल क्रमवार सुची

इन्‍हें भी देखें 👉प्रमुख निधन छत्‍तीसगढ़ 2020-21

इन्‍हें भी देखें 👉बोधघाट बहुउद़ेशीय सिंचाई परियोजना

इन्‍हें भी देखें 👉गौरेला पेन्‍ड्रा मरवाही जिला जानकारी

इन्‍हें भी देखें 👉गुरू घासीदास जी के अनमोल वचन

इन्‍हें भी देखें 👉बस्‍तर राजा प्रवीर चंद भंजदेव बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉भुपेश बघेल जी बायोग्राफी 

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ कैबिनेट मिनिस्‍टर बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉पदूपलाल पुनालाल बक्‍शी बायोग्राफी

इन्‍हें भी देखें 👉भुपेश बघेल जी बायोग्राफी 

इन्‍हें भी देखें 👉बस्‍तर में भूकंप ( भूमकाल) 1910 का विद्रोह

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ की अद्भूत पहाड़ी कोरवा जनजाति का रहस्‍य।।

इन्‍हें भी देखें 👉तुम पेंड़ काटोगें हम तुम्‍हारा गला काटेंगे। कोई विद्रोह का सच

इन्‍हें भी देखें👉जल उठा था दन्‍तेवाड़ा जब दंतेश्‍वरी मंदिर में नरबली दी जाती थी

इन्‍हें भी देखें👉पंडवानी गायिका तीजन बाई का जीवन

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ी राज्‍य गीत – अरपा पैरी के धार 

इन्‍हें भी देखें👉 महान लोग जब छत्‍तीसगढ़ पहूंचे

इन्‍हें भी देखें👉सीजी फोटो फैक्‍ट  

इन्‍हें भी देखें👉 गुरू घासीदास जीवनी 

इन्‍हें भी देखें👉पंडित रविशंकर शुक्‍ल का सम्‍पूर्ण जीवन 

इन्‍हें भी देखें👉रामानुजन का कैम्ब्रिज विश्‍व विद्यालय पहुंचने का सफर  

इन्‍हें भी देखें👉अजीत प्रमोद जोगी का जीवन 

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ के सभी जिलों के कलेक्‍टर के नाम 2020- 21 

इन्‍हें भी देखें👉छत्‍तीसगढ़ में सामंती राज 

इन्‍हें भी देखें👉छ0ग0 व्‍यापम नौकरियां आगामी 2021 

इन्‍हें भी देखें👉छ0ग0 मंत्रालय वर्तमान रिक्‍त पदों की जानकारी 2021 

इन्‍हें भी देखें 👉छत्‍तीसगढ़ जिला खनिज संस्‍थान न्‍यास CGDMF

इन्‍हें भी देखें 👉 CGPSC STATE SERVICES APPLICATION 2020-21



Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *