भारत के राज्य एवं केन्‍द्र शासित प्रदेश, उनकी राजधानियां

upsc, state
pcs, cgpsc pre mains, ssc, bank,relway, defence,gk quiez, entrance exam
सभी परीक्षा के लिए  bharat ka
bhugol indian geography
के महत्‍वपूर्ण जानकारी पूर्ण सिलेबस के अनुसार notes के रूप में इस पोस्‍ट पर उपलब्‍ध है।  
भारत के राज्य व उनकी राजधानीया Bharat ke rajya aur unki rajdhaniya




राज्य 

 राजधानी

हिमाचल 

 शिमला

पंजाब 

 चंडीगढ

हरियाणा

  चंडीगढ

राजस्थान

  जयपुर

गुजरात

  गांधीनगर

महाराष्ट्र 

 मुम्बई

उतराखण्ड 

 देहरादून

उतर प्रदेश

  लखनउ

मध्यप्रदेश

  भोपाल

तेलंगाना 

 हैदराबाद

आन्ध्र प्रदेश 

 अमरावती

कर्नाटक 

 बैंगलुरू

गोवा 

 पणजी

केरल 

 तिरूवन्तपुरुरम

तमिलनाडू 

 चेन्नई

छतीसगढ 

 रायपुर

उड़िस़ा 

 भुवनेश्वर

झारखण्ड 

 रांची

बिहार  

 पटना

प.बंगाल 

 कलकता

सिक्किम 

 गंगटोक

असम 

 दिसपुर

मेघालय

 शिलांग

त्रिपुरा 

 अगरतला

मिजोरम

 आइजोल

मणिपुर 

 इम्फाल

नागालैण्ड 

 कोहिमा

अरूणाचल प्रदेश

 ईटानगर

इसमें दो बड़े शहर लद्दाख व कारगिल है।
यह भारत का सबसे बड़ा केन्द्र शासित प्रदेश है।
यह बिना विधानसभा का केन्द्र शासित प्रदेश है।
यहां कराकोरम दर्रा स्थित है।

सेवन सिस्टर्स seven sisters 

भारत के पुर्वोतर में स्थित राज्यो को सेवन सिस्टर्स के नाम से जाना जाता है। ये
निम्न

है- असम, अरूणाचल, नागालैण्ड, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम
व त्रिपुरा

photo caption from – wikipedia.com



नोट – सिक्किम व मेघालय की सीमा केवल
एक एक राज्य से लगती है। मेघालय की सीमा असम से तथा सिक्किम की सीमा प. बंगाल से
लगती है।त्रिपुरा ऐसा राज्य है जो तीन ओर से बांग्लादेश से घिरा हुआ है।

सिक्किम तीन तरफ से अन्र्तराष्ट्रीय
सीमा बनाता है।





भारत के केन्‍द्र शासित प्रदेश Bharat ke kendrasasit pradesh 

भारत के राज्यो व केन्द्र शासित
प्रदेशो का गठन स्वतंत्रता के समय भारत ब्रिटीश प्राविन्स व 562 रियासतो में
विभाजित था। 26 जनवरी को देश का संविधान लागु होते ही भारत प्रजातंत्र गणराज्य बना।

1 अक्टुबर 1953 को तेलगु भाषाई लोगो के
लिए पहली बार एक अलग राज्य आन्ध्रप्रदेश का गठन भाषा
  के आधार पर किया गया। इसके बाद राज्य
पुनगर्ठन अधिनियम 1956 के आधार पर 14 राज्यो व 6 केन्द्र शासित प्रदेशो का गठन किया गया। इस
अधिनियम के प्रवर्तन के बाद भी राज्यो के गठन का क्रम आज भी जारी है।  1991 में केन्द्र शासित प्रदेश दिल्ली
का नाम बदल कर राष्ट्रीीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली कर दिया गया।


वर्तमान में देश मे 8 केन्द्र शासित प्रदेश है।

जम्मु कश्मीर ,लद्द्दाख,अण्डमान व निकोबार ,लक्ष्यद्वीप, पुदुचेरी, चण्डीगढ, दिल्ली दादर व नागर हवेली और दमन दीव 

photo caption from – youtube channal



जम्मु कश्मीर 

  • 5 अगस्त 2019 को इसे विधानसभा सहित केन्द्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया। 
  • यह विधेयक 31 अक्टुबर
    2019
    को लागु हो गया।

लद्द्दाख 

  • इसमें दो बड़े शहर लद्दाख व कारगिल है।
  • यह भारत का सबसे बड़ा केन्द्र शासित प्रदेश है।
  • यह बिना विधानसभा का केन्द्र शासित प्रदेश है।
  • यहां कराकोरम दर्रा स्थित है।

अण्डमान व निकोबार

  • 1857 से 1942 तक इस क्षेत्र का उपयोग भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को
    आजीवन कारावास (सेल्युलर जेल) की सजा देने के लिए किया जाता था। जिसे
    काला पानी
    कहते थे।
  •  इस पर 1 जैव संरक्षित क्षेत्र, 9 राष्ट्रीय पार्क व 96 अभ्यारण्य
    स्थित
    है।
  • ग्रेट निकोबार को यूनेस्को द्वारा 2013 में अन्तर्राष्ट्रीय जैव मण्डल रिजर्व
    क्षेत्र
    घोषित किया गया है।



लक्ष्यद्वीप 

  1.  यह प्रवाल द्वीपो का एक समुह है।
  2.  1956 में इसके 11 आबादी वाले द्वीपो को मिलाकर केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया, जिसे
    1973 में लक्ष्यद्वीप नाम मिला।
  3. इसके बंगारूद्वीप पर भेल(ठभ्म्स्) द्वारा देश की सबसे बड़ी सौर उर्जा परियोजाना
    स्थापित की गई।

पुदुचेरी

  1. इसमे पाण्डिचेरी, कराईकल, यनम व माहे नामक जिले शामिल है।
  2.  इस पर पहले फ्रांसीसियो का अधिकार था, जिसे 1954 में
    केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया।
  3.  नेहरू ने इसे फ्रेंच संस्कृति की खिड़की कहा है।

चण्डीगढ

  1.  इसे 1 नवंबर 1966 को केन्द्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया।
  2.  यह हरियाणा तथा पंजाब दोनो की राजधानी है।
  3. फ्रासंसी वास्तुशिल्पी ला काबूू‍िूूूूर्सिए  गरा द्वारा इस शहर को बनाया गया।
  4.  सुखना झील से इसे जलापुर्ति होती है।

दिल्ली

  1.  11 वीं सदी में तोमर वंशीय शासक अनंगपाल ने दिल्ली की स्थापना की थी।
  2. 12 दिसंबर 1911 को इसे राजधानी बनाया गया।
  3. 1956 में इसे केन्द्र शासित प्रदेश बनाया गया।

दादर व नागर हवेली और दमन दीव

  1.  इसकी राजधानी दमन होगी।
  2.  3 दिसंबर 2019 को विधेयक पारित किया गया।
  3.  दमन व दीव 1546 से 1961 तक पुर्तगालीयो के अधीन था, जिसे 1961 में भारत का अभिन्‍न हिस्‍सा बना लिया गया। 


Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *