भारत की सीमाएं ! bharat ki simaye ! boundries of india

 upsc,state
pcs,cgpsc pre mains,ssc,bank,relway,defence,gk quiez,entrance exam
सभी परीक्षा के लिए  bharat ka
bhugol indian geography
के महत्‍वपूर्ण जानकारी पूर्ण सिलेबस के अनुसार notes के रूप में इस पोस्‍ट पर उपलब्‍ध है। 

भारत की सीमाएं bharat ki simaye



भारत की कुल सीमा 22,716.6 किमी. है।
जो स्थलीय सीमा (15,200 किमी.) जलीय सीमा (7516.6 किमी.) दो भागों में विभक्त
है। 

भारत की जलीय सीमा को मुख्य रूप से दो भागो मुख्य तटीय सीमा (6100 किमी)
द्वीपीय सीमा (1416.6 किमी)
में बांटा गया है।

भारत की जलीय सीमा bharat ki jaliy simaye

भारत की तटीय सीमा पर कुल 66 जिले एवं
9 राज्य स्पर्श करते है। इसके अलावा 3 केन्द्र शासित प्रदेश एवं उनके 4 जिले तटीय
सीमा को स्पर्श करते है। तटीय सीमा पर सर्वाधिक लम्बाई वाला राज्य गुजरात (1215
कि.मी.) है
जबकि सबसे छोटी सीमा वाला राज्य गोवा (151 कि.मी.) है।



अन्तर्राष्ट्रीय समुन्द्री संगठन की
व्यवस्था के अनुसार

भारत की सीमाएं//boundries of india
photo caption from-https://www.quara.com/




  • 💬Top Most Selling Geography Books! Check Price list ! Amazon

किसी भी देश की जलीय सीमा को इनमें वर्गीकृत किया गया है।

(1) प्रादेशिक जल सीमा pradeshik jal sima– इसे
क्षेत्रिय सागर भी कहा जाता है जो आधार रेखा से 12 समुद्री मील (नॅाटीकल मील) की
दूरी तक विस्तृत है। इस क्षेत्र को उपयोग करने का भारत को सम्पूर्ण अधिकार प्राप्त
है। आधार रेखा टेढे मेढे तट को मिलाने वाली काल्पनिक रेखा है जिसके मध्य के सागरीय
जल को आन्तरिक जल कहते है।

(2) संलग्न क्षेत्र salangna chetra- अविच्छिन्न
मण्डल या संलग्न क्षेत्र
की दूरी आधार रेखा से 24 समुन्द्री मील (1 समुन्द्री मील 1.8 कि.मी.) तक है। इस क्षेत्र में भारत को साफ सफाई
, सीमा
शुल्क वसूली और वितीय अधिकार
प्राप्त है।

(3) अनन्य आर्थिक क्षेत्र ananya arthika chetra – यह
आधार रेखा से 200 समुन्द्री मील की दूरी तक विस्तृत है। इसमें भारत को वैज्ञानिक
अनुसंधान
, नए द्वीपो की खोज व निर्माण तथा प्राकृतिक संसाधनो के दोहन का अधिकार
प्राप्त है।


भारत की तटीय सीमा पर स्थित राज्य पश्चिमी
तट (5)
गुजरात (1600 किमी.)
, महाराष्ट्र, गोआ
(101 किमी.)
, कर्नाटक व केरल

 पूूूूूर्वी तट (4) प. बंगाल, उडिस़ा, आन्ध्रप्रदेश
व तमिलनाडू
सर्वाधिक लम्बी तटीय सीमा वाले राज्य – गुजरात
, आन्ध्रप्रदेश, तमिलनाडू
न्यूनतम तटीय सीमा वाले राज्य – गोआ
, कर्नाटक



भारत का पश्चिमी तट bharat ka pachimi tath: –

  • काकरापार तट/गुजरात तट kakarapar/gujrat tath 

गुजरात
का मैदान सौराष्ट्र से सूरत तक विस्तृत है।

भारत पाक के मध्य 240 उतरी अक्षांश/
240 चैनल
/ सरक्रीक विवाद के कारण प्रसिद्ध है। यहां सर क्रीक
, कोरी
क्रीक
,
कच्छ का रण तथा खम्भात की खाड़ी स्थित है।


  • कोंकण तट/महाराष्ट्र तट konkad tath/ maharastra tath-

यह दमन से गोवा तक फैला है। भारत का
सर्वाधिक पेट्रोलियम उत्पादक क्षेत्र बोम्बे हाई यहां स्थित है
, जहां
से सागर सम्राट नामक जहाज की सहायता से पेट्रोलियम का खनन होता है। भारत का
आधुनिकतम बन्दरगाह जवाहर लाल नेहरू बन्दरगाह है। जो इस तट पर स्थित है। यहां से
भारत का सबसे ज्यादा व्यापार होता है। थालघाट व पालघाट यहां के प्रमुख दर्रे है।

  • कन्नड़/कर्नाटक तट kannad karnataka tath-

लौह इस्पात उद्योग का सबसे ज्यादा व्यापार
न्यू मंगलौर बन्दरगाह से किया जाता है।

  • मालाबार तट/केरल तट malabhar tath / keral tath –

भारत में सबसे पहले मानसुन इसी तट पर
आता है। यहां लेटेराइट मृदा पाई जाती है जो मसालो व कहवा के उत्पादन के लिए
प्रसिद्ध है। भारत में सर्वाधिक रूप से पाया जाने वाला आण्विक खनिज थोरियम इसी तट
पर मिलता है। मोपला आन्दोलन (केरल) जो नील की खेती करने वाले किसानो के द्वारा
किया गया
, के लिए यह तट 
जाना जाता है।

भारत का पूर्वी तट bharat ka purvi tath

  • कोरोमण्डल/तमिलनाडू तट koromandal tamilnadu tath – उतर पूर्वी
    मानसुन की सर्वाधिक वर्षा इस तट पर होती है।
  • उतरी सरकार तट uttari sarkar tath- यह विशाखापतनम में गंगा नदी के तट से
    महानदी तक विस्तृत है।



भारत का जलसंधि bharat ka jal sandhi

  • पाक जलसंधि pak jalsandhi:- यह तमिलनाडू (भारत) व
    श्रीलंका के मध्य स्थित है। जो मन्नार की खाड़ी को बंगाल की खाड़ी से जोड़ती है।
  • मन्नार की खाडी़ mannar ki khadi:- यह द.पू. तमिलनाडू
    श्रीलंका
    के मध्य स्थित है। सेतु समुन्द्रम परियोजना मन्नार की खाडी़ को पाक खाड़ी
    से जोड़ती है।


भारत की अर्न्‍तराष्ट्रीय सीमा bharat ki antarastriya simaye

स्त्रोत – मिनिस्ट्री आफ होम अफेर्यस
इन जनवरी 2004

देश

सीमा

सीमावर्ती राज्‍य

बांग्‍लादेश

4096.7किमी

5 पं0बंगाल, असम, मेघालय, मिजोरम, त्रिपुरा

चीन

3488किमी मैकमोहन रेखा

4 हिमाचल, उत्‍तराखण्‍ड, सिक्क्मि, अरूणाचल प्रदेश

पाकिस्‍तान

3323किमी रेड क्लिफ रेखा

3 पंजाब, राजस्‍थान व गुजरात

नेपाल

1751 किमी

5

म्‍यांमार

1643 किमी

4

भूटान

699 किमी

4

अफगानिस्‍तान

106 किमी डुरण्‍ड रेखा

0

 

विशेष (special fact about indian boundaries)-

  • डुरण्ड रेखा का निर्धारण 1896 में भारत व अफगानीस्तान
    के मध्य हुआ।
  • मैकमोहन रेखा का निर्धारण 1914 में लार्ड
    मैकमोहन
    के द्वारा किया गया। यह भारत – चीन – म्यामांर के मध्य सीमा का निर्धारण
    करती है।
  • रेड क्लिफ रेखा का निर्धारण 14/15 अगस्त 1947 की
    मध्यरात्रि को सर एम रेडक्लिफ के द्वारा भारत व पाकिस्तान के मध्य किया गया।
    परन्तु इसका क्रियान्वन 15 अगस्त 1947 से माना जाता है।
  • भारत म्यांमार की सीमा का निर्धारण मिसपी, पटकोई, नागा
    तथा अराकानयोमा की पहाड़ीयो
    से होता है।
  •  भारत के 17 राज्य अन्तर्राष्ट्रीय सीमा को
    स्पर्श करते है। 


भारत के राज्य व केन्द्र शासित प्रदेश

वर्तमान में भारत के 28 राज्य व 8 केन्द्र शासित
प्रदेश है।

  • क्षेत्रफल के आधार पर राजस्थान (3,42,239 वर्ग
    किमी)
    भारत का सबसे बडा़ राज्य है तथा गोआ (3702 वर्ग किमी.) सबसे छोटा राज्य है।
  • जनसंख्या के आधार पर उतर प्रदेश (19.95करोड़) भारत
    का सबसे बडा़ राज्य
    तथा 
    सिक्किम (6.11 लाख) सबसे छोटा राज्य
    है।
  • क्षेत्रफल के आधार पर भारत का सबसे बड़ा केन्द्र शासित
    प्रदेश जम्मु कश्मीर (1,63,040 वर्ग
    किमी) है तथा सबसे छोटा केन्‍द्र शासित प्रदेश
    लक्ष्‍य द्वीप (32 वर्ग किमी)
    है।
  • कच्छ (45,652 वर्ग कि.मी.), गुजरात
    भारत का सबसे बड़ा जिला तथा माहे (9 वर्ग कि.मी.)
    ,पाण्डिचेरी भारत
    का सबसे छोटा जिला
    है।
  • भारत के केवल तीन केन्द्र शासित प्रदेश ऐसे है जिनमे
    विधानसभा है। ये है – जम्मु कश्मीर
    , दिल्ली व
    पुडूचेरी !


भारत की प्रमुख रेखाएं bharat ki pramukh rekhaye

220 उतरी अक्षांश रेखा
यहां से दक्षिण की ओर भारत संकीर्ण होना शुरू हो जाता है।

240 उतरी अक्षांश रेखा
यहां पर भारत व पाकिस्तान के मध्य सरक्रीक सीमा विवाद है।

160 उतरी अक्षांश रेखा – यह
सहाद्री पर्वत माला को दो बराबर भागो में बांटती है। हिमालय (2500) के बाद सहाद्री
(1600) भारत की दुसरी सबसे लम्बी पर्वत श्रंखला है।

100 उतरी अक्षांश रेखा – यह
अण्डमान व निकोबार द्वीप समुह के मध्य स्थित है।

90 उतरी अक्षांश रेखा – यह
लक्ष्यद्वीप को मिनीकाय से अलग करता है।

80 उतरी अक्षांश रेखा – यह
लक्ष्यद्वीप के मिनीकाय से मालद्वीव को अलग करता है।

ग्रैण्ड चैनल – यह निकोबार व
सुमात्रा द्वीप
(इण्डोनेशिया) के मध्य स्थित है।

डंकन पास – यह दक्षिण अण्डमान व लघु
अण्डमान
के मध्य स्थित है।

कोको स्ट्रेट – यह कोको द्वीप
(म्यांमार) को लैण्डफाल द्वीप
(अण्डमान द्वीप) से अलग करता है।




Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *