बिच्‍छू के काटने पर क्‍या करें

 बिच्‍छू दंश पूरी जानकारी 

बिच्‍छू की कुछ किस्‍में आम बिच्‍छूयों से कहीं ज्‍यादा जहरीली
होती हैं ।
 



5 साल से कम आयु के बच्‍चों को बिच्‍छू यदि सिर या शरीर के मुख्‍य अंग
पर काट जे तो वह खतरनाक हो सकता है।

वयस्‍कों केा बिच्‍छू पहली बार काटे तो वह प्राय: खतरनाक नहीं
होता । यदि बिच्‍छू दूसरी बार काटे तो व्‍यक्ति की मृत्‍यु भी हो सकती है यदि जल्‍दी
ही इलाज न किया गया ।

बिच्‍छू के पहली बार काटने पर शरीर बिच्‍छूदंश के प्रति
एलजिक बन जाता है। इसलिए बिच्‍छू के काटे जाने पर यह जानना जरूरी होता है कि उसे
व्‍यक्ति को इससे पहले भी बिच्‍छू ने कभी डंक मारा है या नहीं।

व्‍यकित में प्राय:
प्रघात के लक्षण उभर जाते हैं या उसके ह्रदय की गति रूक जाती है और उसे खांसी में
खून आने लगता है ।

 

बिच्‍छू के काटने पर क्‍या करें


बिच्‍छू के काटने पर क्‍या करें:-

यदि एक व्‍यस्‍क व्‍यकित को बिच्‍छू ने पहली बार डंक मारा हो तो
निम्‍नलिखित करें:-

व्‍यक्ति को पैरासिटामाल दें और बर्फ मिल जाये तो उसे उस दंश के
स्‍थान पर बांध दें।

एविल की गोलियां भी ली जा सकती है।

यदि बिच्‍छू ने एक व्‍यक्ति केा दूसरी बार डंक मारा है
या डंक लगने वाले बच्‍चे क आयु 5 वर्ष से कम है तो तुरंत डाक्‍टरी सहायता लें।



इन्‍हें भी देेेेेखे👉सर्दियों में स्‍कीन केयर कैसें करें

इन्‍हें भी देेेेेखे👉शनिदेव चालिशा एवं आरती

इन्‍हें भी देेेेेखे👉डायबिटिश पूूूूरी जानकारी 

इन्‍हें भी देेेेेखे👉20 लक्षण जिससे मृृृृृत्‍यू भी हो सकती है 

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *