अजीत प्रमोद जोगी का जीवन परिचय, AJIT JOGI BIOGRAPHY

अजीद प्रमोद जोगी का जीवन परिचय, biography of ajit jogi

जन्‍म:– 

29 अप्रैल 1946 को
ग्राम जोगी डोंगरी
, पेंड्रारोड, बिलासपुर
के एक आदिवासी  किसान परिवार में
,

अजीत जोगी का जीवन परिचय




पिता:- 

श्री काशी प्रसाद जोगी, माता – श्रीमति
कांलामनी जोगी ( पेंड्रारोड में शिक्षक थे )

शिक्षा:-

इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट, मौलाना आजाद तकनीकी
महाविद्यालय भोपाल से
, 1967 में विक्रम वि0वि0 से गोल्‍डमेडलिस्‍ट

जीवन यात्रा:- 

पुलिस सेवा हेतु चयन तथा 1969-70 में
भारतीय प्रशासनिक सेवा हेतु चयन प्रथम दस उम्‍मीदवारों में ।

प्रशासनिक सेवा में:- 

1970 से 1984 तक की सेवा अवधि में
जिलाधीश के पद पर क्रमश: सीधी
, शहडोल, रायपुर तथा
इंदौर जिलों में उत्‍कृष्‍ट प्रशासनिक क्षमता का परिचय
,

परिवार:- 

विवाह1975 में, पत्‍नी डॉ, रेणु जोगी, MBBS, एलएस eye Specialist, एक पुत्र-
अमित जोगी
, अजीत जोगी की बेटीी – अनुषा का 12 मई 2000 को
दु:खद निधन ।




जन्‍म

29
अप्रैल 1946

मृत्‍यु

29 मई 2020

शासकीय
सेवा

IPS IAS

मुख्‍यमंत्री

9 नवम्‍बर
2000 से 6 दिसम्‍बर 2003 तक छत्‍तीसगढ़ ।

सुप्रीमो

छत्‍तीसगढ़
जनता कांग्रेस पार्टी

राजनैतिक
यात्रा
:- 

पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व0 राजीव गांधी के आह्वान पर
राजनीति में प्रवेश
, 1986 में प्रथम
बार
congress  से राज्‍य सभा सदस्‍य निर्वाचित , प्रभावी व
मुखर सांसद के रूप में सक्रिय भूमिका
, 1992 में पुन:
राज्‍य सभा सदस्‍य निर्वाचित

1989 में छत्‍तीसगढ़ आदिवासी अंचलों में 1500 किमी की पदयात्रा, 1989-90 में नवीन
तेंदूपत्‍ता नीति लाने में मुख्‍य भूमिका
,वनोपज व्‍यापार
के सहकारीकरण में महत्‍वपूर्ण भुमिका


1988-90 तक मध्‍य प्रदेश शासन के आदिवासी एवं हरिजन कल्‍याण समिति के केबिनेट
मंत्री का दर्जा प्राप्‍त ।  



अध्‍यक्ष:- 

1995 में
भारत के प्रतिनिधि के रूप में संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा में भाषण
,
मुख्‍यमंत्री बनने के पूर्व अखिल भारतीय कांग्रेस के प्रवक्‍ता।


सांसद के रूप में कार्य:- 

सदस्‍य लोक सेवा, विज्ञान व
तकनीकी समिति
, सार्वजनिक उपक्रम समिति, वन एवं
पर्यावरण समिति
, कोयला
मंत्रालय सलाहाकार समिति
, उद्योग एवं
रेलवे समिति
, वाणिज्‍य समिति, संयुक्‍त
राष्‍ट्र की पचासवीं वर्षगांठ में भारत के प्रतिनिधि मंडल में सम्मिलित हुए 1998
में रायगढ़ से लोक सभा हेतु निर्वाचित ।

1 नवम्‍बर, 2000 को छत्‍तीसगढ़
के प्रथम मुख्‍यमंत्री बने तथा मरवाही क्षेत्र से चुनकर छत्‍तीसगढ़ विधान सभा में
प्रवेश कार्यकाल :- 9 नवम्‍बर 2000 से 6 दिसम्‍बर 2003 तक ।


लेखन:- स्‍वाभाविक चिंतन, व्‍यवहारिक
एवं यथार्थवादी लेखन


प्रमुख ग्रंथ: the role of district collector, administration of pheripheras
areas
सीमावर्ती क्षेत्रों का प्रशासन, फूलकुवर एवं
दृष्टिकोण
, इसके अतिरिक्‍त देश के प्रतिष्ठित
पत्र-‍पत्रिकाओं में विविध लेख प्रकाशित ।

 विदेश यात्रा: फ्रांस, इंगलैण्‍ड, अमरीका, थाइलैण्‍ड, जापान, हांगकांग, ईरान, इराक, नेपाल, मिस्‍त्र, रूस, पाकिस्‍तान, सिंगापुर, जर्मनी, यू0ए0ई0, सउदी अरब, कुवैत, आस्‍ट्रेलिया, दक्षिण
अफ्रीका
, इजराइल, आदि देशों
में विभिन्‍न विषयों पर प्रतिनिधित्‍व करने हेतु यात्राएं किया।

 

विशेष:गरीबों
विशेषकर आदिवासी
, दलित व
पिछड़ों  के कल्‍याण में रूचि‍ ।

नई पार्टी का गठन :- 2016 में कांग्रेस का दामन छोड़ उन्‍होंने अपनी अलग
पार्टी छत्‍तीसगढ़ जनता कांग्रेस पार्टी बनाई।

2018 में बसपा के साथ गठबंधन भी किया।

शारीरिक पड़ाव :2004 में
उनके कमर का निचला हिस्‍सा असमर्थ हो गया ।

अजित जोगी का निधन:-29 मई 2020 दिल का दौरा पड़ने से ।




1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *